ज्ञानशाला में शिक्षण: समय सारिणी

ज्ञानशाला – एकरूपता के मानक

  • संभागी बालक – 5 से 15 वर्ष
  • गणवेश – सफ़ेद (श्वेत परिधान)
  • घोष – घर घर जागे सद्संस्कार, ज्ञानशाला का यह उपहार।
  • ज्ञानशाला कार्य वर्ष – 1 जुलाई से 30 जून
  • ज्ञानशाला वंदना – अर्हं अर्हं की वंदना फले।

संभागियों की विशिष्ठ पहचान / वस्त्र

  • बालिकाओं के लिए : सलवार, कुर्ता, पंचरंगी जैन ध्वज के रंगों में दुपट्टा।
  • बालकों के लिए : पायजामा, चोला या चद्दर व मुखवस्त्रिका।

प्रशिक्षकों के लिए

  • मुख्य प्रशिक्षक : पचरंगी पट्टिका जिस पर मुख्य ज्ञानशाला प्रशिक्षक अंकित होगा।
  • प्रशिक्षक : सफ़ेद पट्टिका जिस पर ज्ञानशाला प्रशिक्षक अंकित होगा।