जैन भारती

organization

जैन भारती पत्रिका का जन्म मार्च 1940 में हुआ। तेरापंथ समाज की यह पहली पत्रिका थी। प्रारम्भ में इसका नाम विवरण पत्रिका था। इसके प्रकाशन का उद्देश्य पूरे समाज को तेरापंथी धर्मसंघ एवं तेरापंथी समाज के विभिन्न कार्यक्रमों, संचालित गतिविधियों एवं क्रियाकलापों से अवगत कराना था। प्रारंभ में यह पत्रिका मासिक निकलती थी। अप्रैल 1948 का अंक जैन भारती के नाम से निकला। जैन भारती जैन दर्शन और विभिन्न दर्शनों से सम्बंधित उच्च कोटि की सामग्री से युक्त जैन समाज की एक प्रमुख पत्रिका है। इसके प्रधान संपादक श्री हंसराज बैताला एवं सह-संपादक श्रीमती पुष्पा बेंगानी है। जैन भारती का प्रकाशीय कार्यालय है – जैन श्वेताम्बर तेरापंथी महासभा, 3, पोर्तुगीज चर्च स्ट्रीट, कोलकाता – 700001।

इस पत्रिका का सदस्यता शुल्क इस प्रकार है :-

  • वार्षिक – रु. 500/-
  • त्रैवार्षिक – रु. 1250/-
  • दसवर्षीय – रु. 3000/-